0

Gulzar Shayari sad for love | romantic shayari in hindi 2020

83 / 100
gulzar shayari

gulzar shayari

Gulzar Shayari for sad

ऐ हवा उनको कर दे खबर मेरी मौत की ..
औरकहुना कि , कफ़न की ख्वाहिश में
मेरी लाश उनके आँचल का इंतज़ार करती है
ai hava unako kar de khabar
meree maut kee .... aur kahuna ki ,
kafan kee khvaahish mein
meree laash unake aanchal
ka intazaar karatee hai

मेरे दिल में एक धड़कन तेरी हैं ,
उस धड़कन की कसम तू ज़िन्दगी मेरी है ,
मेरी तो हर सांस में एक सांस तेरी हैं ,
जो कभी सांस जो रुक जाए तो मौत मेरी हैं .
mere dil mein ek dhadakan teree hain ,
us dhadakan kee kasam too
zindagee meree hai , meree to
har saans mein ek saans teree hain ,
jo kabhee saans jo ruk jae to
maut meree hain …. Gulzar Shayari

कभी तो मेरी खामोशी खुद भी
समझ लिया करो , कब तक
मतलब पूछोगे यूँ गैरों की तरह !
kabhee to meree khaamoshee
khud bhee samajh liya karo ,
kab tak matalab poochhoge
yoon gairon kee tarah !

मोहब्बत दो लोगों के बीच का नशा है ,
जिसे पहले होश आ जाए वो बेवफा है ..
mohabbat do logon ke beech
ka nasha hai , jise pahale hosh
aa jae vo bevapha hai ..

क्यूं ना तुम ठंड बन जाओ कितना भी
मैं खुद को बचाऊं तुम मुझे लग ही जाओ
kyoon na tum thand ban jao
kitana bhee main khud ko
bachaoon tum mujhe lag hee jao

परेशां है इस बात पर वो की उन्हें
कोई समझ नहीं पाया ।
जरा सोच के देखो तुमने
कितनो को समझ लिया ।
pareshaan hai is baat par
vo kee unhen koee samajh
nahin paaya . jara soch
ke dekho tumane kitano
ko samajh liya …. Gulzar Shayari

Shayari for sad in hindi

gulzar shayari

gulzar shayari

बहुत मुश्किल से करता हूँ ,
तेरी यादों का कारोबार , मुनाफा कम है ,
पर गुज़ारा हो ही जाता है …
bahut mushkil se karata hoon ,
teree yaadon ka kaarobaar ,
munaapha kam hai ,
par guzaara ho hee jaata hai …

ना आवाज हुई ,
ना तमाशा हुआ बड़ी ख़ामोशी से
टूट गया एक भरोशा जो तुझ पर था
na aavaaj huee ,
na tamaasha hua
badee khaamoshee

लोग कहते हैं समझो तो
खामोशियाँ भी बोलती हैं ,
मैं अरसे से ख़ामोश हूँ
वो बरसों से बेख़बर है
log kahate hain samajho
to khaamoshiyaan bhee
bolatee hain , main arase
se khaamosh hoon vo
barason se bekhabar hai…. Gulzar Shayari

साड़ी के पल्लू को कमर में यू
ना सरेआम दबाया कर ,
कमर का तो पता नहीं दिल ,
हमारा लचक जाता है
sari ke palloo ko kamar
mein yoo na sareaam
dabaaya kar , kamar ka
to pata nahin dil , hamaara
lachak jaata hai

लाख किसी को प्यार दे दो ,
जिसने धोखा देना होता है
वो धोखा ही देगा …
laakh kisee ko pyaar de do ,
jisane dhokha dena hota hai
vo dhokha hee dega …

उनके बिना खुशियाँ भी हमें ,
अधूरी सीलाती है । लोग जिसे जीना कहते हैं ,
ऐसी जिन्दगी हमें मजबूरी सी लगती है ।
unake bina khushiyaan bhee hamen , adhooree seelaatee hai .
log jise jeena kahate hain ,
aisee jindagee hamen
majabooree see lagatee hai .

Gulzar Shayari in hindi

मेरे मुकद्दर में तो तेरी यादें है लेकिन ,
तू जिसका मुकद्दर है जिन्दगी उसे मुबारक़ ! . !
mere mukaddar mein to teree
yaaden hai lekin , too jisaka
mukaddar hai jindagee use mubaaraq ! . !

साड़ी के पल्लू को कमर में यू ना
सरेआम दबाया कर , कमर का
तो पता नहीं दिल , हमारा लचक जाता है.
sari ke palloo ko kamar mein
yoo na sareaam dabaaya kar ,
kamar ka to pata nahin dil ,
hamaara lachak jaata hai.

gulzar shayari

gulzar shayari

इतनी कमजोर ना थी मेरी मोहब्बत
याद तो तुम्हें भी आती होगी …
itanee kamajor na thee
meree mohabbat yaad to
tumhen bhee aatee hogee … Gulzar Shayari

मैं तो चाहता हूँ हमेशा मासूम बने रहना ,
ये जो जिंदगी है समझदार किये जाती है ।
main to chaahata hoon hamesha
maasoom bane rahana ,
ye jo jindagee hai samajhadaar
kiye jaatee hai .

आँखों में सावन छलका हुआ हैं
आंसू हैं कोईअटका हुआ हैं
आँखों की हिचकी रुकती नहीं हैं
रोने से कब दिल हल्का हुआ हैं
चारों तरफ़ तू बस तू ही तू हैं
मुझ से ज़ियादा भटका हुआ हैं
गुलज़ार जी.
aankhon mein saavan chhalaka
hua hain aansoo hain koeeataka
hua hain aankhon kee hichakee
rukatee nahin hain rone se kab
dil halka hua hain chaaron taraf
too bas too hee too hain mujh
se ziyaada bhataka hua hain
gulazaar jee… Gulzar Shayari

तू उस फूल की तरह है जो न तोड़ा
जाये और जो न छोड़ा जाए ,
अगर वो फूल तोड़ दें तो मुरझा
जाए और अगर छोड़ दें तो
कोई और ले जाए ।
too us phool kee tarah hai
jo na toda jaaye aur jo na
chhoda jae , agar vo phool
tod den to murajha jae aur
agar chhod den to koee aur le jae .

Sad Gulzar Shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

टूटा सा दिल , भींगी औखें ,
और बसी हो तुम दोनों में याद
तुम्हारी खुशबु जैसी बस गयी
मेरी साँसों में.
toota sa dil , bheengee aukhen ,
aur basee ho tum donon
mein yaad tumhaaree khushabu
jaisee bas gayee meree
saanson mein.

तारीफ़ अपने आप की करना फिजूल है
खुशबू खुद बता देती है कौन सा फूल है.
taareef apane aap kee karana
phijool hai khushaboo khud
bata detee hai kaun sa phool hai.

कभी किसी से प्यार मत करना ,
हो जाए तो इंकार मत करना ,
चल सको चलना उस राह पर ,
वरना किसी की जिंदगी खराब मत करना
kabhee kisee se pyaar mat karana ,
ho jae to inkaar mat karana ,
chal sako chalana us raah par ,
varana kisee kee jindagee
kharaab mat karana

मेरे दर्द को भी आह का हक़ हैं ,
जैसे तेरे हुस्न को निगाह का हक़ है
मुझे भी एक दिल दिया है भगवान
ने मुझ नादान को भी एक गुनाह का हक है …
mere dard ko bhee aah ka haq hain ,
jaise tere husn ko nigaah ka haq hai
mujhe bhee ek dil diya hai
bhagavaan ne mujh naadaan ko
bhee ek gunaah ka hak hai …

शराब शरीर को खत्म करती है
शराब समाज को खत्म करती है
आओ आज इस शराब को खत्म
करते हैं एक बॉटल तुम खत्म करो
एक बॉटल हम खत्म करते है
sharaab shareer ko khatm
karatee hai sharaab samaaj
ko khatm karatee hai aao aaj
is sharaab ko khatm karate
hain ek botal tum khatm karo
ek botal ham khatm karate hai.

मोहब्बत भी उस मोड़ पे पहुच चुकी है ,
कि अब उसको प्यार से भी मेसेज करो ,
तो वो पूछती है कितनी पी है !!!
mohabbat bhee us mod pe
pahuch chukee hai , ki ab
usako pyaar se bhee mesej
karo , to vo poochhatee hai
kitanee pee hai !!!

GulZar sad shayari

जानते हो हम बार बार तुमसे क्यूँ रूठते हैं ,
क्यूँकि हमें यकीन हैं , के तुम हमें मना लोगे !
jaanate ho ham baar baar tumase
kyoon roothate hain , kyoonki
hamen yakeen hain , ke tum
hamen mana loge !

बादलों से काट काट के ,
कागजों पे नाम जोड़ना ये मुझे
क्या हो गया ? डोरियों से बाँध बाँध के ,
रातभर चाँद तोड़ना ये मुझे क्या हो गया ?
baadalon se kaat kaat ke ,
kaagajon pe naam jodana ye
mujhe kya ho gaya ? doriyon
se baandh baandh ke ,
raatabhar chaand todana
ye mujhe kya ho gaya ?

घुटन क्या चीज़ है , ये पूछिये उस बच्चे से .
जो काम करता है रोटी के लिये ,
खिलौनों की दुकान पर .
ghutan kya cheez hai ,
ye poochhiye us bachche se .
jo kaam karata hai rotee ke liye ,
khilaunon kee dukaan par .

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है
कोई जैसे एहसान उतारता है
कोई आईना देख के तसल्ली हुई
हम को इस घर में जानता है कोई
din kuchh aise guzaarata hai
koee jaise ehasaan utaarata
hai koee aaeena dekh ke
tasallee huee ham ko is
ghar mein jaanata hai koee ….gulzar shayari

बहुत मुश्किल से करता हूँ
तेरी यादों का कारोबार मुनाफा कम है
पर गुजारा हो ही जाता है
bahut mushkil se karata hoon
teree yaadon ka kaarobaar
munaapha kam hai par gujaara
ho hee jaata hai

Sad shayari for hindi

gulzar shayari

gulzar shayari

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है
कोई जैसे एहसान उतारता है
कोई आईना देख के तसल्ली हुई
हम को इस घर में जानता है कोई.
din kuchh aise guzaarata hai
koee jaise ehasaan utaarata
hai koee aaeena dekh ke
tasallee huee ham ko is ghar
mein jaanata hai koee.

इश्क वो नहीं जो तुझे मेरा करदे ,
इश्क़ तो वो है जो तुझको किसी
और का होने न दे ।
ishk vo nahin jo tujhe mera karade ,
ishq to vo hai jo tujhako kisee
aur ka hone na de .

ऐ हवा उनको कर दे खबर मेरी मौत की …
और कहना कि , कफ़न की ख्वाहिश में
मेरी लाश उनके आँचल का इंतजार करती है .
ai hava unako kar de khabar
meree maut kee … aur kahana ki ,
kafan kee khvaahish mein meree
laash unake aanchal ka intajaar
karatee hai .

किसी को तकलीफ देना मेरी
आदत नहीं बिन बुलाया मेहमान
बनना मेरी आदत नहीं.
kisee ko takaleeph dena
meree aadat nahin bin
bulaaya mehamaan banana
meree aadat nahin….gulzar shayari

sad shayari in gulzar

जिसकी सुबह अच्छी , उसका दिन अच्छा
जिसकी शाम अच्छी , उसकी रात
अच्छी जिसका दोस्त अच्छा ,
उसकी पूरी ज़िन्दगी अच्छ
jisakee subah achchhee ,
usaka din achchha jisakee
shaam achchhee , usakee
raat achchhee jisaka dost
achchha , usakee pooree
zindagee achchh….gulzar shayari

टूटा सा दिल , भींगी आंखें ,
और बसी हो तुम दोनों में याद
तुम्हारी खुशबु जैसी बस
गयी मेरी साँसों में
toota sa dil , bheengee aankhen ,
aur basee ho tum donon
mein yaad tumhaaree
khushabu jaisee bas gayee
meree saanson mein.

mukeshrathour8354@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *