0

Gulzar Shayari for love | gulzar shayari in hindi 2020

83 / 100

Gulzar Shayari Images Quotes Wishes Status in Hindi | Gulzar shayari Love Quotes, True Love Quotes, Romantic Love Quotes, motivational

gulzar shayari

gulzar shayari

Gulzar Shayari for love

मत करो इश्क साहब बहुत झमेले है ,
इश्क करने वाले हँसते सबके साथ है
और रोते अकेले है .

खुद की Selfie निकालना सेक्रेन्डों
का काम है लेकिन खुद की 
Image बनाने में जिन्दगी गुजर जाती है ।

khud kee selphee nikaalana
sekrendon ka kaam hai ….
lekin khud kee image banane 
me jindagee gujar jati hai.

हम जहाँ थे वहाँ पे अब तो नहीं 
पास रहने का कोई सबब तो नहीं
कोई नाराज़गी भी नहीं मगर
फिर भी रूठी हुई सी लगती हो|
ham jahaan the vahaan pe
ab to nahin rahe rahane ka

koee sabab to nahin koee
naaraazagee bhee nahin,
lekin phir bhee roothee
huee see lagatee ho.

रहने दे उधार एक मुलाकात यूँ ही , 
सुना है उधार वालों को लोग भुलाया नहीं करते
rahane deend ek mulaakaat yoon hee, suna hai udhaar vaalon ko log
bhulaaya nahin karate.

तेरे बिना ज़िन्दगी से कोई शिकवा तो 
नहीं तेरे बिना ज़िन्दगी भी लेकिन ज़िन्दगी तो नहीं
tere bina zindagee se koee
shikava to nahin aur bina zindagee bhee lekin zindagee to nahin.gulzar shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

 

Gulzar Shayari in hindi

जिन्हे आसानी से मिलता हूं 
मैं उन्हें लगता है कि बहुत सस्ता हूं मैं

सब तारीफ कर रहे थे अपने – अपने प्यार की , 
मैं नींद का बहाना लेकर महफ़िल छोड़ आया .
sab taareeph kar rahe the, apane – apane pyaar kee, main neend ka bahaana lekar mahafil chhod aaya.

bahut mushkil se karata hoon 
teree yaadon ka kaarobaar,
munaapha kam hai par gujara 
ho jaata hai !!
बहुत मुश्किल से करता हूँ तेरी यादों का कारोबार, मुनाफा कम है पर गुजारा हो जाता है !!

मेरी लिश्वी बात को हर कोई समझ नहीं 
पाता क्योंकि में अहमाम लिखता हूँ 
और लोग अल्फाज पढ़ते हैं गुलज़ार
meree leeshavee baat ko har koee samajh nahin paata kyonki aur ahamaam likhata hoon aur log alphaaz padhate hain guljar shayari

भुलना भुलाना तो दिमाग का काम है 
बेफिक्र हो जाओ तुम दिल में रहते हो
bhulana bhulaana to dimaag ka kaam hai bephikr ho jao tum dil mein rah jao

भुलना भुलाना तो दिमाग का काम है 
बेफिक्र हो जाओ तुम दिल में रहते हो
bhulana bhulaana to dimaag ka kaam hai bephikr ho jao tum dil mein rah jao.

हम सोचते रह गये नफरत करेंगे भले ही थोड़ी सी, 
और नादाँ दिल सरेआम उनसे प्यार करता गया !
hamen lagata hai ki rah gaee napharat bhale hee thodee see, aur naadaan dil sareaam unase pyaar karatee thee!gulzar shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

 

Gulzar Shayari in hindi

भुलना भुलाना तो दिमाग का काम है 
बेफिक्र हो जाओ तुम दिल में रहते हो
bhulana bhulaana to dimaag ka kaam hai bephikr ho jao tum dil mein rahte ho.

मैं वो क्यों बनू जो तुम्हें चाहिए ,
क्यों नहीं जो मैं हूँ । तुम्हें वो कबूल
main vo kyon banoo jo 
tumhen chaahie, kyon nahin jo 
main hoon.tumhe Bo Kabul.

हम सोचते रह गये नफरत करेंगे 
भले ही थोड़ी सी , और नादाँ 
दिल सरेआम उनसे प्यार करता गया ! . !
hamen lagata hai ki rah gaee napharat bhale hee thodee see, aur naadaan dil sareaam unase pyaar karata Gaya.

ज़बा सीखने की जरुरत किसी 
भी उम्र में पड़ सकती है ऐसे ही 
जैसे इश्क किसी भी उम्र में हो सकता है
zaba seekhane kee zaroorat kisee 
ko bhee umr mein pad sakatee hai 
jaise hee ikee kisee bhee umr 
mein ho sakatee hai

हाथ छूटें भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते , 
वक़्त की शाख़ से लम्हे नहीं तोड़ा करते ।
haath chhootane bhee to sambandh 
nahin chhoda karate, 
vaqt kee shaakh se lamhe 
nahin toda karate.

सहम सी गयी है ख्वाहिशें.
जरूरतों ने शायद उन से … 
ऊँची आवाज़ में बात की होगी .. !!
saham see joda hai khvaahishen
jarooraton ne shaayad un se … 
oonchee aavaaz mein baat kee hogee .. !!

मत किया क़र ऐ दिल क़िसी से मोहब्बत इतनी , 
जो लोग़ बात नहीं करते वो प्यार क्या करेगे
mat kiya kur e dil qisee se mohabbat to, jo log baat nahin karate vo pyaar kya karegega

gulzar shayari

gulzar shayari

Gulzar ki best Shayari


परिंदाअगर तेरा हुआतोलौट आएगा , कैदउसे कभीतेरा नहीं बना सकती ।

वो मोहब्बत भी तुम्हारी थी नफरत भी तुम्हारी थी , 
हम अपनी वफ़ा का इंसाफ किससे माँगते .. 
वो शहर भी तुम्हारा था वो अदालत भी तुम्हारी थी
vo mohabbat bhee tumhaaree thee 
napharat bhee tumhaaree thee, 
ham apanee vafa ka insaaph kisase sajate the 
vo shahar bhee tumhaara tha 
vo adaalat bhee tumhaaree thee.

सुनो ज़रा रास्ता तो बताना 
मोहब्बत केसफ़रसे वापसी है मेरी .
suno zara raasta to dikhaana 
mohabbat kesafarase riph hai meree.

पनाह मिल जाए रूह को जिसका हाथ 
छूकर उसी हथेली पे घर बना लो ‘
panaah mil jae rooh ko jisake 
haath chhookar usee hathelee 
pe ghar bana lo.

gulzar shayari

gulzar shayari

Gulzar shayari love
कुछ यूँ मिली नज़र उनसे कि
बाक़ी सब नज़रंदाज़ हो गये .
kuchh yoon milee nazar unase ki
bakhee sab nazarandaaz ho gae.

ग़म मौत का नहीं है ,
ग़म ये के आखिरी वक़्त
भी तू मेरे घर नहीं है ….
निचोड़ अपनी आँखों को ,
के दो आंसू टपके ..
और कुछ तो मेरी लाश को हुस्न मिले …..
डाल दे अपने आँचल का टुकड़ा …
मेरी मय्यत पे कफ़न नही है
gam maut ka nahin hai,
gam ye ke aakhiree vaqt bhee
too mere ghar nahin hai ….
nichod apanee aankhon ko,
ke do aansoo tapake ..
aur kuchh to meree
laash ko husn mile …..
daal de apane aanchal ka.
tukada … meree mayyat pe
kafan nahin hai…….. gulzar shayari

लोग पूछते है हमसे की तुम कुछ बदल गए हो .
बताओ टूटे हुए पत्ते अब रंग भी न बदलें क्या
log poochhate hai hamase kee
tum kuchh badal gae ho.
dikhaen toote hue patte ab
rang bhee na sanshodhit karen kya

साथ साथ धूमते है , 
हम दोनो रात भर .. !
लोग मुझे आवारा ,
और उसे चाँद कहते है .. !
saath saath dhoomate hai,
ham dono raat bhar ..!
log mujhe aavaara,
aur use dopahar kahate hain ..!

gulzar shayari

gulzar shayari

 

Gulzar Shayari best in hindi 


फ़र्क था हम दोनों कि मोहब्बत में
मुझे उससे ही थी उसे मुझसे भी थी
fark mein ham donon the ki
mohabbat mein mere saath
hee vah bhee mujhase tha

चाय में शक्कर जैसी तेरी 
बातें जिंदगी इनके बिना फीकी है
chaay mein shakar jaisee teree baaten
jeevan unake bina pheekee hai

भुलना भुलाना तो दिमाग का काम है 
बेफिक्र हो जाओ तुम दिल में रहते हो
bhulana bhulaana to dimaag
ka kaam hai bephikr ho jao
tum dil mein rah

साथ साथ धूमते है , हम दोनो रात भर .. ! 
लोग मुझे आवारा , और उसे चाँद कहते है .. !
saath saath dhoomate hai,
ham dono raat bhar ..!
log mujhe aavaara,
aur use dopahar kahate hain ..!

परेशां है इस बात पर वो की उन्हें कोई समझ नहीं पाया । 
जरा सोच के देखो तुमने कितनो को समझ लिया ।
shaant is baat par hai ki vah
unhen koee samajh nahin paaya.
jara soch ke dekho tumane kitano
ko samajh liya…. gulzar shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

 

Gulzar shayari in hindi

लोग पूछते है हमसे की तुम कुछ बदल गए हो . 
बताओ टूटे हुए पत्ते अब रंग भी न बदलें क्या
log poochhate hai hamase kee tum
kuchh badal gae ho. dikhaen toote
hue patte ab rang bhee na
sanshodhit karen kya

साथ साथ धूमते है , 
हम दोनो रात भर .. !
लोग मुझे आवारा ,
और उसे चाँद कहते है .. !
saath saath dhoomate hai,
ham dono raat bhar ..!
log mujhe aavaara,
aur use dopahar kahate hain ..!

फ़र्क था हम दोनों कि मोहब्बत में 
मुझे उससे ही थी उसे मुझसे भी थी
fark mein ham donon the ki
mohabbat mein mere saath
hee vah bhee mujhase tha

चाय में शक्कर जैसी तेरी 
बातें जिंदगी इनके बिना फीकी है
chaay mein shakar jaisee
teree baaten jeevan
unake bina pheekee hai

भुलना भुलाना तो दिमाग का काम है 
बेफिक्र हो जाओ तुम दिल में रहते हो
bhulana bhulaana to dimaag ka
kaam hai bephikr ho jao
tum dil mein rah

साथ साथ धूमते है , 
हम दोनो रात भर .. !
लोग मुझे आवारा ,
और उसे चाँद कहते है .. !
saath saath dhoomate hai,
ham dono raat bhar ..!
log mujhe aavaara,
aur use dopahar kahate hain ..!

gulzar shayari

gulzar shayari

Gulzar ki Shayari


परेशां है इस बात पर वो की
उन्हें कोई समझ नहीं पाया ।
जरा सोच के देखो तुमने
कितनो को समझ लिया ।
Paresan is baat par hai
ki vah unhen koee samajh nahin paaya.
jara soch ke dekho tumane
kitano ko samajh liya.

मेरा दुख – सुख सब कुछ शब्दो 
में समाया हुआ है अब कितने
बार बताऊँ कि मैंने तुमे भुलाया हुआ है !
mera dukh – sukh sab kuchh
shabdo mein samaaya hua hai
ab kitanee baar bataoon
ki mainne tumase bhulaaya hua hai!

याद वो नहीं जो अकेले में आए 
याद वो है जो महफ़िल में आए
और अकेला कर जाए … !!
yaad vo nahin jo akele
mein aaya tha vo vo hai jo
mahafil mein aaya aur
akela kar diya jae … !!

तेरे मुस्कुराने का असर सेहत 
पर होता है लोग पूछ लेते है
दावा का नाम काया है ।
tumhara muskurane ka
asar sehat par hota hai .
log poochhate hain ka
daava ka naam hai.

रहने दे उधार एक मुलाकात यूँ ही ,
सुना है उधार वालों को लोग भुलाया नहीं करते ।

mukeshrathour8354@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *